Difference Between SEO and SMO In Hindi

What Is The Difference Between SEO and SMO In Hindi (5 Facts)

आप अक्सर सोचते होंगे what is difference between SEO and SMO और दोनों में से क्या चीज बेहतर है.

जब वेबसाइट पर traffic लाने की बात है तब SEO और SMO दोनों ही अच्छे विकल्प है. SEO का मतलब है Search Engine Optimization. इसमें आप अपने blog को search engine जैसे – Google पर rank करा कर traffic लेते हैं. SMO का मतलब Social Media Optimization जहां आप social media वेबसाइट जैसे – Facebook, Instagram से अपने वेबसाइट पर traffic लगते हैं.

चलिए हम देखते हैं SEO और SMO दोनों कैसे अलग हैं और इनको कैसे किया जाए.

The Difference Between SEO And SMO In Hindi

SEO और SMO अंदर जाने से पहले देख लेते हैं कि दोनों क्या है.

What Is SEO?

what is SEO

SEO यानी Search Engine Optimization, जिसमें अपने website content को optimize करके top ranking हासिल करते हैं. वैसे तो बहुत सारे सर्च इंजन है लेकिन Google सबसे उपयोग किया जाता है.

सर्च इंजन आपके लिए एक बेहतरीन traffic source हो सकता है अगर आप quality content लिख सकते हैं.

SEO करने के कुछ basic rule:-

1. Keyword Research

SEO की शुरुआत keyword research से ही होती है. आपको अपने लिए कम competition वाले keywords सर्वप्रथम ढूंढना होगा.

आपको अगर keyword research करना नहीं आता तब आप मेरी keyword research kaise kare आर्टिकल पढ़ सकते हैं.

2. Quality Content

Keyword research के बाद content लिखना बहुत जरूरी है.

परंतु आप सोच रहे होंगे की Quality Content क्या है और कैसे लिखें?

कोई भी कांटेक्ट जो Google में नया हो और users के सवालों का पूर्ण तरह उत्तर दें उसी को quality content कहते हैं.

3. On-Page SEO Kaise Kare

On-Page SEO का मतलब है अपनी वेबसाइट पर किया गया SEO.

कुछ बातों का ध्यान रखकर आप On-Page SEO काफी आसानी से कर सकते हैं:-

  1. Heading – आपके blog का heading इस प्रकार होना चाहिए कि लोग उस पर click करने के लिए मजबूर हो जाए. लेकिन जो बातें आपने heading के अंदर बोली है वह बातें आपके content में रहना चाहिए.
  2. URL – आपका blog का URL हमेशा SEO-Friendly होना चाहिए. इससे Google को आपके content को समझने में आसानी होती है. अधिक जानकारी के लिए आप यह पढ़ें.
  3. Image – आपका blog image काफी महत्व रखता है. आपका image HD होना चाहिए ताकि लोग आसानी से देख सकें.
  4. Image Alt Text – Google अभी तक images को पढ़ने में सक्षम नहीं है. वह images कुछ समझने के लिए alt text (alternative) का उपयोग करता है. कोशिश करिए कि आप इसमें अपना main keyword का उपयोग करें.
  5. Website Speed – Google अपने users को जल्द से जल्द result देना चाहता है. इस कारण से आपका website speed बहुत ही तेज होना चाहिए. आप अच्छे servers, compressed images का उपयोग करके अपने वेबसाइट को fast बना सकते हैं.साथ ही साथ आप Pingdom, GTMetrix, Google Page Insights पर भी अपनी अब साइड की स्पीड देख सकते हैं.

4. Off-Page SEO

Digital Marketing के क्षेत्र में ऐसा माना जाता है कि आप 20% समय content लिखने में और 80% उसको promote करने में लगाएँ. इसी से आप blog promotion का महत्व जान सकते हैं. अपने ब्लॉग को rank करने के लिए जो भी कोशिश से हम blog के बाहर करते हैं उसको off-page seo कहते हैं.

Off-Page SEO में आप content marketing, social media, backlink आदि काम करते हैं.

5. Blog Ke Liye Backlink बनाएं

आपके रैंकिंग के लिए Backlink एक बहुत ही महत्वपूर्ण factor है. आप जितने high authority website से backlink लेंगे उतना ही आपको रैंकिंग में फायदा मिलेगा.

Backlink कभी भी no. का game नहीं है. Quantity की अपेक्षा में आप हमेशा quality backlink को महत्व दें.

Backlink बनाने के लिए आप यह article को पढ़ें.

What Is SMO (Social Media Optimization)?

SMO का full form (Social Media Optimization) होता है.

What is smo

SMO में आप अपने social media channels जैसे Facebook, Instagram, Youtube, twitter आदि को optimize करते हैं. आप पूरा content जैसे images, videos, caption सब कुछ सोच समझ कर डालते हैं. अपने page bio को अच्छी तरह से लिखते हैं ताकि users को आपके व्यापार के बारे में समझने में आसानी हो.

SMO में ध्यान रखने वाली कुछ बातें

  1. Consistency – Regular post करते रहे. आप अगर लगातार content नहीं डालेंगे तो users आपको unfollow कर कर चले जाएंगे.
  2. Good Graphics/Images – हमेशा HD images का ही उपयोग करें.
  3. अच्छे Hashtag का उपयोग करें – अपने Category और platform को देखते हुए अच्छे hashtag ढूंढे और उनका उपयोग करें. ज्यादा Popular hashtag का उपयोग करने से बचें.
  4. Clear Bio लिखें – जब भी लोग आपके social media channels पढ़ाते हैं तब आपका bio ज़रुर check करते हैं.इस कारण से आपको clear bio लिखना चाहिए.
  5. Attracting Caption लिखें – Caption से आपको ranking के साथ-साथ user interaction भी ज्यादा कर आता है. एक अच्छे caption से आप बहुत सारे लोगों को अपना content दिखा सकते हैं.

What Is SEO And SMO In Hindi

आपको SEO और SMO क्या है इसका पता लग गया होगा. अब हम देखेंगे कि दोनों में क्या अंतर है.

Sr. No.FactorsSEOSMO
1TargetSearch EngineSocial Media
2Main PurposeTrafficBranding
3Main ContentArticlesImages, Videos
4ExampleGoogleFacebook, Instagram
5Positive SideLong Term TrafficQuick Boost
6Negative SideTakes TimeDaily Efforts

सारांश (Summary)

SEO और SMO दोनों का उपयोग करके वेबसाइट पर traffic लाना होता है. जहां SEO से आप Google को target करते हैं, वहीं SMO से आप social media channels जैसे Facebook को target करते हैं.

इन दोनों के ही सहायता से आप branding, awareness कर सकते हैं परंतु दोनों के करने का तरीका अलग है.

SEO में आप वेबसाइट के कंटेंट को optimize करते हैं और SMO में images, hashtag आदि का उपयोग करते हैं.

अब आपकी बारी (Your Turn Now)

आपको SEO और SMO दोनों में से क्या करना चाहता पसंद है. नीचे comments में बताएं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *