The Difference Between SMO And SMM In Hindi

The Difference Between SMO And SMM In Hindi (2020)

Difference between SMO And SMM In Hindi – इस आर्टिकल में आपको SMO और SMM के अंतर का मालूम चलेगा हिंदी में.

जब भी हम Digital marketing की बात करते हैं तब social media हमारे जेएन में ज़रूर आता है. इसके जरिए अपनी कंपनी की branding और visibility बढ़ा सकते हैं. Social Media के अंदर terms – SMO और SMM काफी प्रचलित है. SMO में हम सोशल मीडिया के content, research और strategies पर काम करते हैं. वही SMM में हम अपने सोशल मीडिया को दुनिया के सामने ले जाने की कोशिश करते हैं. इसके लिए हम social media के ads का उपयोग करते हैं.

हम अपने इस आर्टिकल में इन दोनों की definition और difference जानेंगे. इनको उपयोग कैसे करें अपने फायदे के लिए यह भी जानेंगे.

Difference Between SMO And SMM In Hindi

हम लोग देखते हैं दोनों का definition:-

What Is SMO In Hindi?

SMO का full form – “Social Media Optimization” होता है.

SMO के अंदर आप अपने वेबसाइट को तैयार करते हैं ताकि वह ज्यादा से ज्यादा social media platforms पर share किया जा सके.
इसका एक दूसरा concept भी है.

इसमें हम अपने social media pages को इस तरह से optimize करते हैं ताकि उसमें ज्यादा से ज्यादा engagements, comments, likes, आदि आ सके. अगर आपको on-page SEO के बारे में मालूम है तो यह वही चीज है जो कि सोशल मीडिया पर किया जाता है.

SMO कैसे किया जाए?

Social Media Optimization करने के कुछ basic rules है जिनको अपनाकर आप अच्छी तरह से अपने सोशल मीडिया चैनल को optimize कर पाएंगे:-

  1. अच्छा BIO लिखना – आपका profile bio वह पहला चीज है जो कि लोग पढ़ते हैं. इसको attractive और to the points रखने की कोशिश करें.
  2. अच्छे Hashtags का उपयोग करना – हर social media platform का अपना अलग hashtags होता है और उसको उपयोग करने का तरीका भी अलग होता है. कुछ platforms जैसे Instagram में आप 30 hashtag का उपयोग कर सकते हैं वही LinkedIn जैसे प्लेटफार्म में आप 1-2 hashtag का उपयोग करना ही सही है. इसलिए हर एक प्लेटफार्म के लिए अलग hashtags research करें.
  3. Hd images का उपयोग करना – Images जो भी आप उपयोग कर रहे हैं वह अगर अच्छा नहीं होगा तब लोग उस पर नहीं आएंगे. कोशिश करें कि आप stock images ले और उनको change करके अपने लिए उपयोगी बनाएं. जितना उपयोग और जानकारी से भरपूर image होगा उतने ही लोग picture को like करेंगे. इससे आपकी reach और visibility बढ़ेगी.
  4. Comments का answer करना – यह कोई बड़ी बात नहीं है पर लोग अक्सर इस को भूल जाते हैं. जितने भी लोग आपके picture पर comment करें उन सभी का जवाब देना आपका कार्य है. ऐसा नहीं करने से लोग धीरे-धीरे आपकी प्लेटफार्म से चले जाएंगे.
  5. लोगों को सटीक जानकारी देना – हमेशा कोशिश करें कि आप जो भी जानकारी साझा कर रहे हैं वह आपके personal experience या full prove हो. अपनी जनता को गलत जानकारी देने से लोग confuse हो जाएंगे और आपके प्लेटफार्म छोड़कर चले जाएंगे.

What Is SMM In Hindi? – SMM क्या है?

SMM क्या है

SMM का Full form “Social Media Marketing” होता है.

SMM के अंदर हम लोग अपने content को दुनिया के सामने लेकर आते हैं. यहां आपको groups, pages, profile का उपयोग करके यह कार्य करते हैं. SMM को आप Off-Page SEO से जोड़ कर देख सकते हैं.

इसमें हम videos, ads, posting, commenting आदि करके अपने content को ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास ले जाने की कोशिश करते हैं. इसमें हम दूसरे groups और pages पर जाकर comments और question भी पूछते हैं.

SMM कैसे करें?

SMM देखा जाए तो एक long term प्लान है जहां बहुत सारी strategies, research और experiment करना होता है. इसको करने के लिए आप कुछ steps का उपयोग कर सकते हैं:-

  1. Competitors Research – Competitor analysis एक बहुत ही महत्वपूर्ण role होता है social media marketing के अंदर. Competition को जानकर आप अपने लिए best plan तैयार कर सकते हैं. इससे अभी मालूम चलेगा कि किस तरह के post मार्केट में चल रहे हैं और किस तरह के नहीं.
  2. Content Strategy – अपने competition को जाने के बाद दूसरा महत्वपूर्ण कदम है अपने लिए एक content strategy को तैयार करना. इसके लिए step – 1 में उपयोग किए गए analysis का उपयोग करें. जिस तरह के content या post चल रहे हैं उस तरह के post कि एक detailed strategy को तैयार करें.
  3. Social Media Content Calendar – एक social media calendar का होना बहुत जरूरी है. आप इसमें पूरे महीने के कांटेक्ट का प्लानिंग करके एक साथ डाल सकते हैं. इस तरह आप अपना कीमती समय किसी और कार्य में लगा पाएंगे. प्रत्येक दिन content planning करना एक कठिन कार्य बन सकता है. आप कुछ tools जैसे HoostSuit और Buffer का उपयोग करके अपने content को schedule भी कर सकते हैं. इस तरह आप और अधिक समय बचा सकते हैं.
  4. Engaging With Audience – अपनी जनता के साथ बातें करना एक बहुत ही जरूरी कदम है. जब भी आप सोशल मीडिया करते हैं तब बहुत सारे लोग आपसे सवाल पूछेंगे. आपका कार्य है कि इनको सटीक और satisfying उत्तर दें. यह करने से लोगों का भरोसा आप पर होगा और आप जब भी नया कुछ content डालेंगे तो ज्यादा से ज्यादा लोग interact करेंगे. यह देख time consuming कार्य है लेकिन यह बहुत ही लाभदायक है लंबी अवधि में.
  5. Checking Right Matrix – अक्सर लोग गलती करते हैं कि वह गलत चीजों को analysize करने लगते हैं. जैसे बहुत लोग likes और reach को analyze करके खुश होने लगते हैं. जबकि उनको यह टारगेट करना चाहिए कि उनके वेबसाइट पर सोशल मीडिया के माध्यम से कितना ट्रैफिक, कितने sales हुए आदि. हमारा मुख्य उद्देश्य ज्यादा likes या comment लाना नहीं है बल्कि अपनी sales करनी है. यह चीज को हमेशा ध्यान में रखें.

सारांश (Summary)

SMO जहां website और social media platform पर होता है वही SMM अपने सोशल मीडिया चैनल को बाहर promote करने का एक माध्यम है. SMO सोशल मीडिया का on-page है वही SMM को आप off-page से जोड़ कर देख सकते हैं.

दोनों का अपना ही महत्व अगर आप दोनों में से एक की गलत करेंगे तो आपको अच्छे परिणाम नहीं आ पाएंगे. इसलिए जरूरी है दोनों को साथ साथ और अच्छे ढंग से strategies बनाकर करें. इससे आपको समय और मेहनत दोनों बच पाएगा.

अब आपकी बारी (Your Turn Now)

आपको अगर यह आर्टिकल अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ इसको शेयर करें और उनको भी इसकी जानकारी दें.

1 thought on “The Difference Between SMO And SMM In Hindi (2020)”

  1. Social media marketing is the use of social media platforms and websites to promote a
    product or service. Although the terms e-marketing and digital marketing are still
    dominant in academia, social media marketing is becoming more popular for both
    practitioners and researchers. Most social media platforms have built-in data analytics
    tools, enabling companies to track the progress, success, and engagement of ad
    campaigns.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *