Web hosting kya hai

Web Hosting Kya Hai In Hindi? वेब होस्टिंग के बारे में विस्तार से जाने

Web hosting kya hai in hindi – इस आर्टिकल में आपको वेब होस्टिंग की जानकारी मिलेगी.

वेब होस्टिंग इंटरनेट के क्षेत्र में एक जगह होता है जहां आप अपनी वेबसाइट को दुनिया के सामने ला सकते हैं. वेब होस्टिंग खरीदने का मतलब है कि आपने इंटरनेट पर एक छोटा सा जगह किराए पर ले लिया है. इस किराए के जगह में आप अपना वेबसाइट को रख सकते हैं ताकि सारी दुनिया इसको देख सके.

इस आर्टिकल में हम लोग वेब होस्टिंग के बारे में विस्तार से बात करेंगे. हम लोग देखेंगे कि वेब होस्टिंग कितने प्रकार के होते हैं, इनको कैसे लिया जाए और इनको खरीदने समय क्या किया बातों का ध्यान रखें.

Web Hosting Kya Hai In Hindi

जब आपको एक दुकान खोलना चाहते हैं उस समय आप को सबसे पहले किसकी जरूरत होती है?

जगह की (Space).

इसी को अगर इंटरनेट पर जगह चाहिए तो उसको वेब होस्टिंग कहते हैं.जब हम वेब होस्टिंग खरीद लेते हैं तब हमको इंटरनेट में एक space मिल जाता है. इस space का प्रयोग हम अपनी वेबसाइट को दुनिया के सामने दिखाने के लिए कर सकते हैं.

जब हमारा वेबसाइट तैयार हो जाता है तब हम इसको एक नाम लिखते हैं जिसको Domain कहते हैं. “आप समझ लीजिए की domain आपके दुकान का नाम है वही वेब होस्टिंग दुकान की जगह”.

Web Hosting कितने Types के होते हैं

वेब होस्टिंग बहुत तरह के होते हैं. कुछ महत्वपूर्ण वेब होस्टिंग के प्रकार नीचे हैं:-

  1. Shared Web Hosting
  2. VPS Hosting (Virtual Private Server)
  3. Dedicated Hosting
  4. Cloud Hosting

एक-एक करके हम इन सभी servers के बारे में जानेंगे.

What Is Shared Hosting In Hindi – शेयर्ड होस्टिंग क्या है

जब एक ही server में बहुत सारे वेबसाइट होते हैं तब इसको शेयर्ड होस्टिंग होते हैं. यह एक beginner के लिए काफी अच्छा माना जाता है. अगर आपने अभी अपना वेबसाइट चालू किया है और आपके वेबसाइट पर ज्यादा लोग नहीं आते इस परिस्थिति में आप shared hosting का उपयोग कर सकते हैं.

What Is Shared Hosting

चलिए इसको थोड़ा और गहराई से समझते हैं.

मान लीजिए की आप नौकरी करने के लिए दूसरे शहर में जा रहे हैं. शुरुआती दिनों में आपके पास ज्यादा पैसे नहीं होगा. इसलिए आप एक ही कमरे में 2-3 दोस्तों के साथ रहेंगे.आप अपना बिस्तर, रसोई और यहां तक कि शौचालय भी साझा use करेंगे. इसी को इंटरनेट के क्षेत्र में shared hosting कहते हैं.

Shared hosting सभी server में से सबसे सस्ता होता है.

शेयर्ड होस्टिंग के सबसे सबसे बड़े दो नुकसान:-

  1. Slow Speed (धीमा)
  2. No Privacy ( प्राइवेसी नहीं होना)

अगर आपके shared कमरे में 10-12 मेहमान एक साथ आ जाए तब आपको जगह की काफी दिक्कत होगी. उसी तरह shared hosting में भी आपको यही सामना करना होगा. Traffic बढ़ने से आपकी वेबसाइट बंद भी हो सकती है.

वही आप अगर अपना कमरा शेयर करते हैं तो आपको प्राइवेसी नहीं मिलती है. उसी तरह शेयर होस्टिंग में आपको प्राइवेसी नहीं मिलेगी. इसमें एक ही IP Address पर बहुत किस्म के वेबसाइट हो सकते हैं. हो सकता है कोई porn या sex वाली वेबसाइट भी हो. इससे आपकी ranking पर फर्क पड़ता है.

What Is VPS Hosting In Hindi

VPS Hosting एक shared hosting और dedicated hosting के बीच का hosting है. यहां आपको शेयर्ड होस्टिंग के मुकाबले ज्यादा controlling power मिलता है.

ऊपर वाले उदाहरण से इसको समझते हैं:-

आपके पास कुछ पैसे आ गए हैं और आप कुछ प्राइवेसी भी चाहते हैं. अपने मालूम किया तो पूरे flat का किराया बहुत ज्यादा है. इस परिस्थिति में आप दो कमरों वाला मकान ले सकते हैं. हम दो दोस्त मिलकर एक एक कमरे में रह सकते हैं. आप दोनों को प्राइवेसी मिल जाएगा और साथ में ही किराया भी कम लगेगा.

एक shared hosting की तुलना में VPS hosting महंगी होती है. इसमें हर एक server के पास अपना IP address होता है. हर सर्वर को अलग-अलग बांटकर एक seperate IP address दे दिया जाता है.

एक VPS hosting secure होता है. इसके साथ यह ज्यादा traffic को handle कर सकता है.

What Is Dedicated Server In Hindi?

Dedicated server एक आलीशान घर कैसा होता है. इस घर में आपका ही अधिकार होगा. यहां आपको सभी तरह के सुख सुविधाएं उपलब्ध होंगे. लेकिन इस सुविधा का उपयोग करने के लिए आपको ज्यादा किराया देना होगा.

यह server सिर्फ एक ही वेबसाइट के लिए होता है इसलिए इसका नाम dedicated है.

इस server का उपयोग ज्यादातर eCommerce वेबसाइट जैसे Amazon, Flipkart, E bay, Snap deal करती हैं. इसका स्पीड और cost दोनों ज्यादा होते हैं. यह एक बड़े traffic को भी आसानी से संभाल सकता है. अगर किसी समय अचानक से बहुत ज्यादा traffic आ जाए तो भी यह संभालने के लायक होता है.

What Is Cloud Server In Hindi?

यह एक नई तरह का server है जो बहुत तेजी से popular हो रहा है.

इसमें कई सारे server एक ही वेबसाइट के लिए काम करते हैं. Groups of server मिलकर server load time और speed को बैलेंस कर लेते हैं. इस कारण आपको high performance देखने को मिलती है.

Cloud Hosting का मुख्य मकसद ज्यादा up-time, easy scaling और dedicated IP address होता है.

किस तरह की वेबसाइट Cloud hosting का उपयोग करती हैं?

यह होस्टिंग बहुत ज्यादा ट्रैफिक को संभालने के लिए बना हुआ है. Search engines, social media channels इनको उपयोग करती हैं. कुछ Ecommerce, Lead Generation company भी इनका उपयोग करती है.

Hosting Kaise Kharide – होस्टिंग खरीदने से पहले यह बातें जान ले

अभी आपको होस्टिंग कितने types के होते हैं मालूम चल गया होगा. आप अगर सोच रहे हैं कि अपना वेबसाइट के लिए होस्टिंग कैसे खरीदें तब आपको यह पढ़ना चाहिए.

आप अपनी वेबसाइट अभी चालू कर रहे हैं तब उस पर ज्यादा traffic नहीं होगा. इस समय आपका मुख्य focus सस्ता और अच्छा सर्वर होना चाहिए. शुरुआती दिनों में आप shared hosting का ही उपयोग करें. यह आपको कम दाम पर अच्छे features देता है.

Web Hosting Kaise Kharide? Web Hosting खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखें

वेब होस्टिंग खरीदना एक बहुत ही सर दर्द वाला काम है. इसमें आपको बहुत सारे बातों का ध्यान रखना पड़ता है. हम इन्हीं बातों के बारे में discuss करेंगे और जाने की कोशिश करेंगे कि कैसे एक अच्छा web hosting चुना जाए.

1. UpTime

इसका मतलब है कि आपका वेबसाइट कितने समय तक online रहता है. जितना समय आपका वेबसाइट down रहेगा इतना ही नुकसान होगा. आपके visitors भी चले जाएंगे और Google भी आपके वेबसाइट को ज्यादा रैंकिंग नहीं देगा. इसलिए यह जरूरी है कि आप ज्यादा UpTime वाले server को चुने.

ध्यान दें कि UpTime कम से कम 99.5% हो. यह figure इतना ज्यादा रहेगा उतना अच्छा.

2. Customer Support

Web Hosting चुनने के लिए customer support एक बहुत ही महत्वपूर्ण factors होता है. जब आपके वेबसाइट पर कुछ प्रॉब्लम होगा तब आपको customer support के असल महत्व के बारे में समझ आएगा.

Customer बहुत सारे technical काम करने में सक्षम होते हैं.

मान लीजिए आपको वेबसाइट host करनी हो और आप यह set up नहीं कर पा रहे हैं. उस समय customer support की मदद से आप यह काम बहुत ही आसानी से कर पाएंगे. आपका वेबसाइट down हो जाए तब भी customer care कर्मचारी आपकी मदद करेगा.

इस तरह customer support की भूमिका ही अलग होती है.

3. Web Space

कंप्यूटर खरीदते समय हम hard disk को अधिक महत्व देते हैं. अपने जरूरतों के मुताबिक हम hard disk का space चुन सकते हैं. अगर आपको ज्यादा Movies, Games, Songs आदि रखना है तब आप ज्यादा से ज्यादा space वाले कंप्यूटर को चुनेंगे.

उसी प्रकार आपको वेबसाइट बनाने से पहले यह मालूम होना चाहिए कि आप क्या क्या content डालने वाले हैं. कितने images और videos का उपयोग करेंगे.

4. Bandwidth

आप हर सेकंड कितना डाटा access कर सकते हैं इसको bandwidth कहते हैं.

वेबसाइट के slow होने का कारण बहुत लोगों की एक साथ आ जाना है. इस तरह लोग ज्यादा कॉन्टेंट अपने कंप्यूटर पर डाउनलोड करेंगे और आपका वेबसाइट slow हो जाएगा.

कोशिश करें कि आप ज्यादा से ज्यादा bandwidth वाले server को ही चुने. ऐसा करने से आपका server ज्यादा visitors के आने से slow नहीं होगा. और आपको अच्छी स्पीड देगा.

5. Backups

कभी धोखे से आपके कंप्यूटर से कुछ फाइल डिलीट हो जाए तब आपको backup के महत्व का ज्ञान होगा.

इसी प्रकार सरवर भी एक तरह का कंप्यूटर है जहां पर data डिलीट होने के chances होते हैं. आप यह सुनिश्चित करें कि आपका web hosting कंपनी backup की सुविधा दे रही हो.

सारांश (Summary)

मैं आशा करता हूं की आपको web hosting kya hai समझ में आ गया होगा.

अब आपकी बारी (Your Turn Now)

अगर आपको web hosting से related कोई भी doubts हो तो आप नीचे comment box में डाल सकते हैं. मैं आपकी समस्या का समाधान करने का पूरा कोशिश करूंगा.

अगर आपको यह article लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ share करें और उनका प्रॉब्लम solve करें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *