What Is PPC In Hindi? PPC क्या है और कैसे काम करता है? (2020 Updated)

What Is PPC In Hindi? क्या आपको PPC के बारे में मालूम है अगर नहीं तो यह पोस्ट आपकी सहायता कर सकती है.

PPC डिजिटल मार्केटिंग का एक मॉडल है जिसमें advertiser हर क्लिक पर पैसा देते हैं. इसमें आपको विज्ञापन दिखाने के लिए कुछ भी चार्ज नहीं लगता. जैसे ही आप के विज्ञापन पर कोई व्यक्ति क्लिक करता है तब आपको पैसे देने की होती है. इसीलिए इस का full form  – Pay Per Click (हर क्लिक पर धनराशि देना).

PPC के अंदर बहुत कुछ और आता है जिसके बारे में हम लोग किस आर्टिकल में देखेंगे.

What Is PPC In Hindi?

PPC यानी Pay Per Click, इसमें advertiser को क्लिक के पैसे देने होते हैं. यानी अगर आप अपना ads campaign चलाते हैं और और ads हर कोई click नहीं आता है, तब आपको कोई पैसे देने की जरूरत नहीं. जितने click आएँगे उतने के ही पैसे देने होंगे.

What Is PPC In Digital Marketing In Hindi

PPC का मुख्य मकसद visitor को अपनी वेबसाइट पर लाना होता है. इस कारण visitor वेबसाइट से कुछ product खरीद सकते हैं या email sign कर पाए.

PPC उपयोग करने के दो मुख्य platform हैं.

  1. सर्च इंजन (Search Engine)
  2. सोशल मीडिया (Social Media)

इन दोनों को बारी-बारी से देखते हैं.

1. सर्च इंजन पर PPC

अगर आप कोई keyword पर रिंग करना चाह रहे हैं पर इस पर competition बहुत ज्यादा है तब आप PPC का इस्तेमाल कर सकते हैं.
जब हम लोग सर्च इंजन पर ads चलाते हैं तब इसको SEM (Search Engine Marketing) बोला जाता है. SEM के लिए सबसे पॉपुलर platform Google सर्च इंजन है.

2. सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके PPC Ads चलाएं

सोशल मीडिया PPC के लिए एक बहुत ही अच्छा माध्यम हो सकता है. जब हम सोशल मीडिया पर PPC ads चलाते हैं तब वह SMM (Social Media Marketing) के अंदर आता है.

सर्च इंजन की तुलना में सोशल मीडिया पर ads काफी किफायती होता है. SMM का इस्तेमाल करके आप कम पैसों में भी अच्छा मार्केटिंग कर सकते हैं.

SMM के लिए 2 popular प्लेटफॉर्म है:-

  1. Facebook
  2. Instagram

इसके अलावा आप LinkedIn का इस्तेमाल भी कर सकते हैं.

PPC Ads काम कैसे करता है?

इसमें हम Google का उदाहरण लेकर समझेंगे कि PPC काम कैसे करता है?

सर्च इंजन में top ranking हासिल करने के लिए सिर्फ धनराशि ही काफी नहीं है. इसके अलावा आपको Quality Score, bidding, country, keywords आदि पर ध्यान देना होगा. इन सब का उपयोग करके आप कम पैसों में भी top ranking ला सकते हैं.

1. Bidding

Google Ads एक auction system उपयोग करता है. इसमें advertiser को हर keyword के लिए बोली लगानी होती है. जिसका ज्यादा धनराशि होता है उसको कितना ज्यादा ranking या top position मिलता है.

यह प्रोसेस भी काफी complicated है. आपने अगर ₹10/- की बोली लगाई है तो यह जरूरी नहीं कि आपको top ranking के लिए इतने पैसे खर्च करने होंगे. ज्यादातर यह कम ही होता है.

Google पहले दूसरे नंबर की आदमी ने कितने की bid लगाई है फिर अगर टॉप position के लिए $0.01 ज्यादा पैसे आपको देने होंगे.

उदाहरण

जिस व्यक्ति का ad दूसरे नंबर पर है उसने $10 का bid लगाया है. आपको इससे ऊपर जाने के लिए $10.01 ज्यादा खर्च करना होगा.

Note – Quality Score इसमें एक काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.

2. Quality Score

अच्छा quality score होने से अब कम पैसों में भी टॉप ranking ला सकते हैं.

Ad Rank निकालने का फॉर्मूला होता है:-

Ads Rank = (Quality Score) * (Max. CPC)

अच्छी ranking के लिए quality score और CPC (cost per click) दोनों का अच्छा होना जरूरी है.

CPC का मतलब होता है आप एक click पर कितना पैसा खर्च करना चाहते हैं.

Actual CPC निकालने के लिए एक फार्मूला है जिसको “Adword Discounter”.

Actual CPC = (Ad Rank Of Competitor/ अपना quality score) + $0.01

Actual CPC Formula

Quality Score बढ़िया करने के कुछ तरीके:-

  1. सही keyword का चुनाव करें – Quality Score के लिए keywords एक बहुत महत्वपूर्ण step है. आपको देखना है कि किस टाइप के keyword आपके products के लिए उत्तम है. इसके लिए आपको keyword research करना होगा.
  2. Landing Page – वह पेज जहां आप user को भेजना चाहते हैं उसको landing page बोलते हैं. कोशिश करें कि जो कीवर्ड अपने चुने हैं वह आपके लैंडिंग पेज में हो. इससे Google वह लगता है कि landing page उन्हीं keywords के लिए बना हुआ है.
  3. User Experience – एक बहुत महत्वपूर्ण factor है की user आपके लैंडिंग पेज के साथ कैसे पेश आ रहा है. या दूसरी भाषा में कहें उसका landing page experience कैसा है. User Experience को बढ़ाने के लिए आप लैंडिंग पेज की information, load speed आदि अच्छा रखें. इसमें यूज़र को ज्यादा घूमने की जरूरत ना पड़े और आप जो चाहते हैं वह उसको सामने दिखे.
  4. Adword में आपका Heading – Heading वह चीज है जो user पहले देखता है. एक अच्छे Heading से आपकी CTR (Click Through Rate) बहुत बढ़ जाएगी. मतलब ज्यादा से ज्यादा लोग आपके ads पर click करेंगे. अच्छा CTR Google को संदेश देती है कि आपका ads बहुत बढ़िया है और user को पसंद आ रहा है.
  5. Negative Keywords का उपयोग करना – Negative keywords का मतलब होता है कि आप किन keywords पर अपना ad नहीं दिखाना चाह रहे हैं.यह एक बहुत ही शक्तिशाली tool है जिसका उपयोग करना लोग अक्सर भूल जाते हैं. इसका उपयोग करके आप अपना CTR, Conversion, Quality Score बढ़िया कर सकते हैं.

Importance Of PPC – PPC Ads Campaign क्यों चलाएं?

इसके बाद आप सोच रहे होंगे कि क्या आपको PPC ads चलाने की जरूरत है?

अगर यह बात है तो नीचे पड़े और आपके सभी doubts clear हो जाएंगे.

PPC ads चलाने का 5 मुख्य कारण है:-

  1. जल्द रिजल्ट मिलता है (Quick Result) – अगर आप जल्द से जल्द रिजल्ट की कामना करते हैं तब आपको PPC जरूर मदद कर सकता है. अपना campaign चलाते ही आपको रिजल्ट आना चालू हो जाएंगे. यह SEO से कर पाना काफी मुश्किल है. SEO के लिए आपको महीनों का इंतजार करना होगा.
  2. Keyword Competition – ऐसा कई बार होता है एक keyword का competition बहुत है पर आप फिर भी rank करना चाहते हैं. इस सूरत में भी आप PPC ads का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  3. PPC आपके पूरे नियंत्रण में रहता है – PPC की सहायता से आप जब चाहे अपने ads दिखा सकते हैं. आप इसमें समय और दिन निर्धारित कर दें और यह ऐड करने लग जाएगा. इसमें आप अपने मन मुताबिक budget भी दे सकते हैं.
  4. अतुल्य लक्ष्यीकरण विकल्प (Incredible Targeting Option) – PPC की सहायता से आप अपने ऐड को जिस देश के जिस शहर में दिखाना चाहते हैं वह कर सकते हैं. यहां तक कार्य कर सकते हैं कि किस तरह के लोगों को आपको ऐड दिखे, उनकी उम्र क्या हो, उनका वेतन कितना है आदि.
  5. PPC रिजल्ट को आसानी से measure कर सकते हैं – PPC की सहायता से आप अपनी रिजल्ट को आसानी से track और measure कर सकते हैं. Campaigns को optimize भी आसानी से कर सकते हैं.

PPC And CPC In Digital Marketing

कहीं बार आप PPC और CPC में confuse हो जाते हैं.

PPC – Pay Per Click – यह एक advertisement का मॉडल है जहां आपको प्रत्येक click के पैसे देने होते हैं.

CPC – Cost Per Click – आप PPC के लिए कितने पैसे देते हैं या देने के लिए तैयार है उसको CPC कहते हैं.

सारांश (Summary)

अपने इस पोस्ट में PPC के बारे में सीखा. आपने यह भी देखा कि PPC model कैसे काम करता है और किन factors का ध्यान आपको रखना चाहिए. PPCकी सहायता से जल्द रिजल्ट पा सकते हैं. PPC में सिर्फ पैसे ही मायने नहीं रखते उसके अलावा quality socre, keyword आदि भी बहुत मायने रखते हैं.

अब आपकी बारी (Your Turn Now)

मैं ऐसा करता हूं कि what is PPC In Hindi आपको समझ में आ गया होगा.यदि आपका कोई सवाल हो तो मुझे नीचे comment box में लिखें.

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो हमें दोस्तों और सभी संबंधियों के साथ भी इसको शेयर करें और उनको भी PPC के बारे में जागरूक करें.

Leave a Comment